dahej mukt mithila

(एकमात्र संकल्‍प ध्‍यान मे-मिथिला राज्‍य हो संविधान मे) अप्पन गाम घरक ढंग ,अप्पन रहन - सहन के संग,अप्पन गाम-अप्पन बात में अपनेक सब के स्वागत अछि!अपन गाम -अपन घरअप्पन ज्ञान आ अप्पन संस्कारक सँग किछु कहबाक एकटा छोटछिन प्रयास अछि! हरेक मिथिला वाशी ईहा कहैत अछि... छी मैथिल मिथिला करे शंतान, जत्य रही ओ छी मिथिले धाम, याद रखु बस अप्पन गाम - अप्पन बात ,अप्पन मान " जय मैथिल जय मिथिला धाम" "स्वर्ग सं सुन्दर अपन गाम" E-mail: apangaamghar@gmail.com,madankumarthakur@gmail.com mo-9312460150

सोमवार, 14 मार्च 2011

( समस्त भाई - बोहिन के होली के ढेरो सुभकामना )चलू देखैत छी होली मनोरंजन

समस्त  भाई  - बोहिन  के  होली के  ढेरो  सुभकामना 

 चलू देखैत  छी होली  मनोरंजन 
1.


2.
 होली  खेले  रागुबिरा  अब्ध में --
3
.  

4.
रंग  बरसे  भिगे चुनर  वाली -----

5.
 होली  के  दिन सब मिल जाते है  रंगों में -----

6.
धीरे - धीरे  डाल ,   भोज पूरी  मस्ती सोंग ---

7 .
होली  मस्ती  सोंग ------

8.
मैथिलि  मस्ती  सोंग  ,------
9 .


10 .
 होली मस्ती  सोंग मैथिलि ----
तारी वाली  तारी पियादे ----

11.


 12..
मैथिली सोंग  --
भोजी के  देलकै ----


होली  है --------

2 टिप्‍पणियां:

Chandan Jha ने कहा…

बहुत बढ़िया मदन जी...! होली के ढेर सारा बधाई.....! अहाक नवका प्रोफाइल फोटो भी बहुत बढ़िया छल ...!

arun jha ने कहा…

bahut nik parstuti holi sang ati sundar धीरे - धीरे डाल , भोज पूरी मस्ती सोंग ---तारी वाली तारी पियादे ----